tags

New christmas u log Status, Photo, Video

Find the latest Status about christmas u log from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos about christmas u log.

  • Latest
  • Popular
  • Video

White )×( ''*जला* रहे थे *लोग*,*जलाए* गए *लोग*.. .. . *मौत* की *हवा* चली,*छुपाएं* गए *लोग*.. .. . *फ़ैसला* हुआ, *सब* बदलते *चेहरों* का .. .. . *लोग* कहते हैं *बहुत*,*बुलाए* गए *लोग*.. ... .. . !!'')×( #. लोग...🌀 ©anurag amii

#Quotes #Log  White )×( ''*जला* रहे थे *लोग*,*जलाए* गए *लोग*.. .. .



*मौत* की *हवा* चली,*छुपाएं* गए *लोग*.. .. .



 *फ़ैसला* हुआ, *सब* बदलते *चेहरों* का .. .. .



 *लोग* कहते हैं *बहुत*,*बुलाए* गए *लोग*.. ... .. . !!'')×(

#.          लोग...🌀

©anurag amii

#Log

12 Love

White धूल की तरह... अफवाहें उड़ाते हैं लोग । जमाना नहीं... बातें बनाते हैं लोग ।। परेशां होते हैं.. जानने को सब कुछ । जरा सा भी धैर्य,, नहीं रख पाते हैं लोग ।। 🌺🍁🌷🍁🌺 ©SEEMA SINGH

#विचार  White धूल की तरह...
अफवाहें उड़ाते हैं लोग ।
जमाना नहीं...
बातें बनाते हैं लोग ।।
परेशां होते हैं..
जानने को सब कुछ ।
जरा सा भी धैर्य,,
नहीं रख पाते हैं लोग ।।

🌺🍁🌷🍁🌺

©SEEMA SINGH

Log

13 Love

#विचार #Log  White वक्त और लोग बदलते रहते हैं।
कभी खुद बदल जाते हैं।
कभी हालत बदल देती है।

©Tripti varma

#Log

108 View

#christmas #Video

#christmas #Video

144 View

#कविता #Log  जोश से भरे हैं, 
क्रूरता से न डरे हैं,,
बातों में खरे  हैं, 
लालच से परे हैं। ।
छल में हाथ धरे हैं, 
मुख में राम राम हरे हैं,,
कितनी प्रदूषित यहां ज़र्रे हैं, 
फिर भी लोग कहें,
अभी हम न मरे हैं। ।
घाव जरा गहरे हैं, 
शांत पड़ी नहरें हैं,,
व्याप्त लोभ के पहरे हैं, 
हर मर्तबा झंडे झूठ के ही फहरे  हैं। ।
चट्टानों से गुजरे हैं, 
हर तरफ फरेब के मुजरे हैं,,
संकुचित लोगों की सोच यहां, 
अपने अपने यहां खतरे हैं। ।
written by संतोष वर्मा azamgarh वाले 
खुद की जुबानी

©Santosh Verma

#Log #

90 View

#celebration #christmas #Videos

White )×( ''*जला* रहे थे *लोग*,*जलाए* गए *लोग*.. .. . *मौत* की *हवा* चली,*छुपाएं* गए *लोग*.. .. . *फ़ैसला* हुआ, *सब* बदलते *चेहरों* का .. .. . *लोग* कहते हैं *बहुत*,*बुलाए* गए *लोग*.. ... .. . !!'')×( #. लोग...🌀 ©anurag amii

#Quotes #Log  White )×( ''*जला* रहे थे *लोग*,*जलाए* गए *लोग*.. .. .



*मौत* की *हवा* चली,*छुपाएं* गए *लोग*.. .. .



 *फ़ैसला* हुआ, *सब* बदलते *चेहरों* का .. .. .



 *लोग* कहते हैं *बहुत*,*बुलाए* गए *लोग*.. ... .. . !!'')×(

#.          लोग...🌀

©anurag amii

#Log

12 Love

White धूल की तरह... अफवाहें उड़ाते हैं लोग । जमाना नहीं... बातें बनाते हैं लोग ।। परेशां होते हैं.. जानने को सब कुछ । जरा सा भी धैर्य,, नहीं रख पाते हैं लोग ।। 🌺🍁🌷🍁🌺 ©SEEMA SINGH

#विचार  White धूल की तरह...
अफवाहें उड़ाते हैं लोग ।
जमाना नहीं...
बातें बनाते हैं लोग ।।
परेशां होते हैं..
जानने को सब कुछ ।
जरा सा भी धैर्य,,
नहीं रख पाते हैं लोग ।।

🌺🍁🌷🍁🌺

©SEEMA SINGH

Log

13 Love

#विचार #Log  White वक्त और लोग बदलते रहते हैं।
कभी खुद बदल जाते हैं।
कभी हालत बदल देती है।

©Tripti varma

#Log

108 View

#christmas #Video

#christmas #Video

144 View

#कविता #Log  जोश से भरे हैं, 
क्रूरता से न डरे हैं,,
बातों में खरे  हैं, 
लालच से परे हैं। ।
छल में हाथ धरे हैं, 
मुख में राम राम हरे हैं,,
कितनी प्रदूषित यहां ज़र्रे हैं, 
फिर भी लोग कहें,
अभी हम न मरे हैं। ।
घाव जरा गहरे हैं, 
शांत पड़ी नहरें हैं,,
व्याप्त लोभ के पहरे हैं, 
हर मर्तबा झंडे झूठ के ही फहरे  हैं। ।
चट्टानों से गुजरे हैं, 
हर तरफ फरेब के मुजरे हैं,,
संकुचित लोगों की सोच यहां, 
अपने अपने यहां खतरे हैं। ।
written by संतोष वर्मा azamgarh वाले 
खुद की जुबानी

©Santosh Verma

#Log #

90 View

#celebration #christmas #Videos
Trending Topic