Jain Saroj

Jain Saroj

मैं ग्रहणी हूं

  • Latest
  • Popular
  • Video
#विचार #sad_quotes  ऐसा नहीं है कि पुनः प्रेम नहीं हो सकता 
ऐसा भी नहीं कि कोई प्रेम करने वाला नहीं मिलेगा
 ऐसा भी नहीं कि कोई तुमसा ना मिलेगा 
सब हो सकता है पुनः 
परंतु..
हृदय अटका पड़ा है तुममें 
जिसे कोई और चाहिए ही नहीं 
जिसे तुमसे अच्छा कोई दिखता नहीं 

खैर.!
ये बात अलग है कि प्राप्त तो  मुझे तुम भी नहीं ..!!

©Jain Saroj

#sad_quotes

207 View

#विचार  .....बड़ा विचित्र है भारतीय नारी का प्रेम
वह विदेशियों की तरह
चौबीसों घंटे नहीं करती....
आई लव यू -आई लव यू का उदघोष
बल्कि 
गूँथ कर खिला देती हैं प्रेम
आटे की लोइयों में,
कभी कपड़ों में 
नील की तरह छिड़क देती है प्यार
.....lकभी बुखार में 
गीली पट्टियां बन कर
बिछ जाती है माथे पर
जानती है वो.....
कि मात्र क्षणिक उन्माद नहीं है प्रेम,
जो ज्वार की तरह चढ़े और भाटे के तरह उतर जाये...

©Jain Saroj

.....बड़ा विचित्र है भारतीय नारी का प्रेम वह विदेशियों की तरह चौबीसों घंटे नहीं करती.... आई लव यू -आई लव यू का उदघोष बल्कि गूँथ कर खिला देती हैं प्रेम आटे की लोइयों में, कभी कपड़ों में नील की तरह छिड़क देती है प्यार .....lकभी बुखार में गीली पट्टियां बन कर बिछ जाती है माथे पर जानती है वो..... कि मात्र क्षणिक उन्माद नहीं है प्रेम, जो ज्वार की तरह चढ़े और भाटे के तरह उतर जाये... ©Jain Saroj

162 View

#विचार #Sad_shayri  White प्रेम सिर्फ शारिरिक नहीं होता हैं ,
प्रेम किसी व्यक्ति से नहीं होता हैं ,
प्रेम व्यक्तित्व से होता है ,
इंसान के व्यवहार से होता है ,
किसी की बातो से जब मन को खुशी मिलती है ,
किसी की परवाह जब तुम्हें सुकूँ देती है ,
तुम कितने अनमोल हो उसके लिए ,
जब कोई तुम्हें ये महसूस कराता हैं ,
अपने व्यस्त समय मे से भी ,
जो आपके लिए समय निकालता हैं ,
जिसको आप समझते हो और
जो तुम्हें समझता हो ,
ऐसे इंसान से हर बार आपको प्यार होगा ,
क्योंकि प्रेम व्यक्ति से नही व्यक्तित्व से होता हैं।

©Jain Saroj

#Sad_shayri

108 View

#विचार #sad_shayari  White मेरी पत्नी मेरे बगल में सो रही थी... 
और अचानक मुझे एक सूचना मिली
एक महिला ने मुझे उसे जोड़ने के लिए कहा।
 तो मैंने उसे जोड़ा
मैंने मित्र अनुरोध स्वीकार कर लिया 
और एक संदेश भेजकर पूछा
"क्या हम एक दूसरे को जानते हैं?"
उसने जवाब दिया: 
मैंने सुना है कि तुम्हारी शादी हो गई है लेकिन 
मैं अब भी तुमसे प्यार करती हूँ।"
वह अतीत से एक दोस्त थी। 
तस्वीर में वह बेहद खूबसूरत लग रही थीं।
 मैंने चैट बंद की और अपनी पत्नी की ओर देखा
 वह दिन भर की थकान के बाद गहरी नींद सो रही थी।
उसे देखकर मैं सोच रहा था कि 
वह इतनी सुरक्षित कैसे महसूस करती है 
कि वह मेरे साथ बिल्कुल नए घर में इतनी आराम से सो सकती है।
वह अपने माता-पिता के घर से बहुत दूर है, जहां उसने 24 घंटे अपने परिवार से घिरे रहे। जब वह परेशान या उदास होती थी तो उसकी मां वहां होती थी ताकि वह अपनी गोद में रो सके। उसकी बहन या भाई चुटकुले सुनाते थे और उसे हंसाते थे। उसके पिता घर आते थे और उसे वह सब कुछ देते थे जो उसे पसंद था और फिर भी, उसने मुझ पर इतना भरोसा किया।
ये सारे विचार मेरे मन में आए तो मैंने फोन उठाया और "ब्लॉक" दबा दिया।
मैं उसकी ओर मुड़ा और उसके बगल में सो गया।
मैं एक आदमी हूँ, बच्चा नहीं। मैंने उसके प्रति वफादार रहने की शपथ ली है और ऐसा ही होगा। मैं हमेशा के लिए एक आदमी बनने के लिए लड़ूंगा जो अपनी पत्नी को धोखा नहीं देता और एक परिवार को नहीं तोड़ता ....

©Jain Saroj

#sad_shayari

324 View

#शायरी #flowers  White मैं जानती थी .............
मैं जानती थी तुम लौटकर नहीं आओगे 
बड़ा है न तुम्हारा अहंकार मेरे प्रेम  से ,
अधिक मूल्यवान है तुम्हारा# क्रोध,
मेरे चिर प्रवाहित अश्रुओं से,

अपने दंभ के इस विशाल सागर को 
इन चिर प्रवाहित अश्रुओं से कभी नहीं भर पाओगे 
मैं जानती थी तुम लौटकर नहीं आओगे 

अधिक भारी है न तुम्हारा मानसिक संताप ,
मेरे ह्रदय को मिलने वाले स्नेह पूरित कुछ क्षणों से,
कहीं अधिक विकसित है तुम्हारी उम्र ,
मेरे चंचल , उच्छृंखल पलों से ,

मेरे इन उच्छृंखल पलों को 
अपनी व्यस्तता के दौर से छल नहीं पाओगे 
मैं जानती थी तुम लौटकर नहीं आओगे 

अधिक विशाल है तुम्हारा पुरुष होना ,
मेरे स्त्रीत्व की तुलना में ,
अधिक कमज़ोर हैं तुम्हारी भावनाएँ
मेरे आहत मन की वेदना से ,

इस आहत मन की वेदना को 
कभी समझ नहीं पाओगे 
मैं जानती थी तुम लौटकर नहीं आओगे

©Jain Saroj

#flowers

126 View

वैसे वास्तव में सच्चाई है ये, जिन पुरुषों ने अपने प्रेम में , खुद को पूर्णतः समर्पित किया, उन पुरुषों के हिस्से में कभी वफा आई ही नहीं, उन्हे मिली ऐसी स्त्रियां, जो कपटी थी , जिन्होंने उनके प्रेम के बदले, उन्हे दिए गहरे आघात, जिंदगी भर का पश्चाताप, और स्वयं से घृणा करने की वजह, श्राप जैसी होती हैं ऐसी औरतें, जो एक हंसते खेलते इंसान के जीवन से, खुशियों के सारे रंग , छीन ले जाती है सदा के लिए, बसा लेती है अपना घर, एक सहज इंसान की सारी , दुनिया उजाड़कर....! ©Jain Saroj

#विचार  वैसे वास्तव में सच्चाई है ये,
जिन पुरुषों ने अपने प्रेम में ,
खुद को पूर्णतः समर्पित किया,
उन पुरुषों के हिस्से में कभी वफा आई ही नहीं,
उन्हे मिली ऐसी स्त्रियां,
जो कपटी थी ,
जिन्होंने उनके प्रेम के बदले,
उन्हे दिए गहरे आघात,
जिंदगी भर का पश्चाताप,
और स्वयं से घृणा करने की वजह,
श्राप जैसी होती हैं ऐसी औरतें,
जो एक हंसते खेलते इंसान के जीवन से,
खुशियों के सारे रंग ,
छीन ले जाती है सदा के लिए,
बसा लेती है अपना घर,
एक सहज इंसान की सारी ,
दुनिया उजाड़कर....!

©Jain Saroj

वैसे वास्तव में सच्चाई है ये, जिन पुरुषों ने अपने प्रेम में , खुद को पूर्णतः समर्पित किया, उन पुरुषों के हिस्से में कभी वफा आई ही नहीं, उन्हे मिली ऐसी स्त्रियां, जो कपटी थी , जिन्होंने उनके प्रेम के बदले, उन्हे दिए गहरे आघात, जिंदगी भर का पश्चाताप, और स्वयं से घृणा करने की वजह, श्राप जैसी होती हैं ऐसी औरतें, जो एक हंसते खेलते इंसान के जीवन से, खुशियों के सारे रंग , छीन ले जाती है सदा के लिए, बसा लेती है अपना घर, एक सहज इंसान की सारी , दुनिया उजाड़कर....! ©Jain Saroj

17 Love

Trending Topic