Kavita Varesha

Kavita Varesha

माना बात को घुमाती हूं दिल में ही नहीं दिमाग में भी लगाती हूं जहां तक भी जाती हूं हर किसी की अदाएं ले आती हूं किल की तरह हर किसी को चुभ जाती हूं लेखिका हूं जनाब सीधी से कहां बात कर पाती हूं

  • Latest
  • Popular
  • Video
#poem✍🧡🧡💛 #Motivational #sayrilovers #love❤️ #kavita
#Motivational

🙏🙏🙏🙏🙏🙏🥰 like comment share save ♥️ support me my all friends 🥰🙏

81 View

#holi_special #sayrilovers #L♥️ve #holi2024 #poatry  Holi is a popular and significant Hindu festival celebrated as the Festival of Colours, Love, and Spring. मुझे हजारों में, वो एक रंग चाहिए।
मिले ना जो गैरों से,
 बस वही अपने संग चाहिए।।

©Kavita Varesha

#holi2024 please like comment share save ♥️🥰 #L♥️ve #poatry #holi_special #sayrilovers

90 View

#Motivational #PoetInYou  चुप थे अब सब कुछ ठीक करना चाहती हूं मैं 
इन आंसुओं को पोछ मुस्कुराना चाहती हूं मैं
इन विरानियों से दूर फिर महफिल में गाना चाहती हूं मैं
खुशियों के जहां में अपना आशियाना सजाना चाहती हूं मैं
हर वादे से आजाद हर बेड़ी हर बंदीशो को तोड़ना चाहती हूं मैं
अब मुस्कुराना चाहती हूं मैं

हर एक कदम अपनी और बढ़ाना चाहती हूं मैं
इन तन्हाइयों से निकाल सागर की लहरों संग
 शोर मचाना चाहती हूं मैं
खुद में जीना खुद में मरना चाहती हूं मैं
अब इस मतलब की दुनिया से दूर
खुद से मोहब्बत करना चाहती हूं मैं
हां अब जीना चाहती हूं मैं

©Kavita Varesha

#PoetInYou चुप थे अब कुछ कहना चाहते है हम

46 View

मेरा घर ?????? खुद की बेटी को हर खुशी देने वाले बहु को बेटी क्यों नहीं बना पाते अपने बेटे को अपना कह लाड लड़ाने वाले अपनी बेटी को अपना क्यों नहीं कह पाते कहने को तो है लड़की के दो घर फिर भी उसे अपना मान कोई रिश्ता हक से क्या नहीं निभा पाते पिता का कहना है पराई बेटी ,सास भी यही कहती है पराए की बेटी दहलीज पर बैठी अब मैं सोचू मैं हूं किस घर की बेटी ©Kavita Varesha

#Motivational #alone  मेरा घर ??????




खुद की बेटी को हर खुशी देने वाले
बहु को बेटी क्यों नहीं बना पाते

अपने बेटे को अपना कह लाड लड़ाने वाले
अपनी बेटी को अपना क्यों नहीं कह पाते

कहने को तो है लड़की के दो घर
फिर भी उसे अपना मान कोई रिश्ता हक से क्या नहीं निभा पाते 

पिता का कहना है पराई बेटी ,सास भी यही कहती है पराए की बेटी

दहलीज पर बैठी अब मैं सोचू 
मैं हूं किस घर की बेटी

©Kavita Varesha

मेरा घर support me 🙏🙏🙏🙏✍️✍️✍️➡️➡️➡️❤️❤️❤️❤️ #alone

18 Love

उन्हें लगता है हम उन्हें वक्त नहीं देत अरसे बीत जाती है एक मुलाकात नहीं देते एक झलक को तड़पते हैं आवाज नहीं देते फिर भी खुश है हम उन बिन ,वह कहते हैं हम अपने जज्बात नहीं देते अल्फाज मेरे बिखरे है वरना समझा भी देते हम उन्हें अपने हाल बयां कर देते क्या बीती है इन दिनों हम पर हम अपने दर्द बयां कर देते बेवफा नहीं है हम हालातों से मजबूर है वरना इस वक्त को हम आने कभी ना देते हैं ©Kavita Varesha

#sad_feeling  उन्हें लगता है हम उन्हें वक्त नहीं देत
अरसे  बीत जाती है एक मुलाकात नहीं देते
एक झलक को तड़पते हैं  आवाज नहीं देते 
फिर भी खुश है हम उन बिन ,वह कहते हैं
 हम अपने जज्बात नहीं देते

अल्फाज मेरे बिखरे है वरना समझा भी देते
हम उन्हें अपने हाल बयां कर देते
क्या बीती है इन दिनों हम पर
हम अपने दर्द बयां कर देते

बेवफा नहीं है हम
हालातों से मजबूर है
वरना इस  वक्त को हम आने कभी ना देते हैं

©Kavita Varesha

#sad_feeling 😔 यह वक्त कभी ना आने देते like comments share save follow me 🙏🙏🥰 instagram I'd @kavita_varesha1432

17 Love

Trending Topic