Vijay Vidrohi

Vijay Vidrohi

lecturer sociology, poet, Artist

  • Latest
  • Popular
  • Repost
  • Video
#love_shayari #PARENTS #shayri #Mother #poem  White मां सबसे न्यारी होती है
सब रिश्तो में प्यारी होती है
ये जग है कांटों का जंगल 
मां ही फुलवारी होती है।

हर दुख से हमें बचाती है मां
हम हंसदे तो मुस्काती है मां
टोक न लग जाए बच्चों को 
माथे तिलक लगाती है मां 
माथे तिलक लगाती है मां
बच्चों को कुछ हो जाए तो 
मां दुखी बड़ी भारी होती है
यह जग है कांटों का जंगल 
मां ही फुलवारी होती है

©Vijay Vidrohi

White देश के सभी मुस्लिम भाई-बहनों को ईद की बहुत-बहुत मुबारकबाद ©Vijay Vidrohi

#eid_mubarak #wishes  White देश के सभी मुस्लिम भाई-बहनों को 
ईद की बहुत-बहुत मुबारकबाद

©Vijay Vidrohi

#eid_mubarak

12 Love

White बाप के जैसा दूजा इंसान नहीं होता उसके नाम से बढ़कर कोई नाम नहीं होता बहता है जो खून हमारे नस-नस में उस खून की लाज से बढ़कर कोई सम्मान नहीं होता कदर करो ऐ लोगों अपने जन्मदाता की पैदा करने से बड़ा कोई एहसान नहीं होता Happy Fathers Day Respect your Father &Mother ©Vijay Vidrohi

#जन्मदाता #fathers_day #बाप #PARENTS  White बाप के जैसा दूजा 
इंसान नहीं होता 
उसके नाम से बढ़कर 
कोई नाम नहीं होता
बहता है जो खून 
हमारे नस-नस में
उस खून की लाज से बढ़कर 
कोई सम्मान नहीं होता
कदर करो ऐ लोगों 
अपने जन्मदाता की
पैदा करने से बड़ा कोई 
एहसान नहीं होता
Happy Fathers Day
Respect your 
Father &Mother

©Vijay Vidrohi

White भरे पूरे घर में भी मां बाप अकेले हैं है कहने को सब अपने सब झूठ- झमेले हैं है औलादों को पाला कर मेहनत दिन और रात अब वो ही मारे ठोकर जो गोद में खेले हैं मांपपे तो बहूओं लगते बड़े प्यारे हैं और सास ससुर की तो करवाती जेले हैं ©Vijay Vidrohi

#fathers_day #बाप #RESPECT #PARENTS  White भरे पूरे घर में भी मां बाप अकेले हैं
है कहने को सब अपने सब झूठ- झमेले हैं
है औलादों को पाला 
कर मेहनत दिन और रात
अब वो ही मारे ठोकर जो गोद में खेले हैं
मांपपे तो बहूओं लगते बड़े प्यारे हैं 
और सास ससुर की तो करवाती जेले हैं

©Vijay Vidrohi

White ऊंचे ऊंचे ख्वाब ना देखा करते दिल, यहां पूरी कायनात है तेरे सपने चकनाचूर करने के लिए। ©Vijay Vidrohi

#Sad_shayri  White ऊंचे ऊंचे ख्वाब ना देखा करते दिल,
यहां पूरी कायनात है तेरे सपने 
चकनाचूर करने के लिए।

©Vijay Vidrohi

#Sad_shayri

16 Love

White आज अंधेरा है तो कल सवेरा भी होगा जो आज है तेरा कल वो मेरा भी होगा कर ले तू कितनी तिकड़म कुर्सी हथियाने की पर एक दिन तेरा बाहर बसेरा भी होगा होगी पूरी इच्छा जो तुमने थी पाली कंधे पर झोला हाथ कटोरा भी होगा। ©Vijay Vidrohi

#election_results #shayri #India #viral  White आज अंधेरा है तो कल सवेरा भी होगा 
जो आज है तेरा कल वो मेरा भी होगा 
कर ले तू कितनी तिकड़म कुर्सी हथियाने की 
पर एक दिन तेरा बाहर बसेरा भी होगा
होगी पूरी इच्छा जो तुमने थी पाली 
कंधे पर झोला हाथ कटोरा भी होगा।

©Vijay Vidrohi
Trending Topic