Yaminee Suryaja

Yaminee Suryaja

"दिनकर की बेटी हूं आग लिखती हूं, पंक्तियों में मेरे अगर तुम न हो तिरंगे तो ... मैं भी क्या खाक लिखती हूं ।" insta handle : @yaminee_suryaja

  • Latest
  • Popular
  • Repost
  • Video

White प्रणय वृक्ष यदि स्वीकार हूं मैं तो ये पौधा रख लो‌ आम का नहीं लाया हूं फूल के लिए मैं फूल गुलाब का मैं चाहूं ये पौधा बने प्रतीक हमारे प्यार का हम रहें, न रहें प्रेम हमारा हिस्सा रहे संसार का मैं चाहूं तुम संग सींचना इस प्रेम के पौधे को मन जुड़े हमारा और पोषण मिले इस पौधे को मुझे तुम्हारे सौंदर्य या तन से नहीं, मन से प्रेम है मर्यादित हूं मैं, बिना अधिकार स्पर्श से परहेज है तभी यह पौधा साथ लाया हूं प्रेम का नया सलीका भी हाथ लाया हूं जब देर रात आए याद मेरी, इस पौधे को निहारना तुम जब बढ़ने लगे आवेग प्रेम का, स्पर्श इसे करना तुम बस यूं ही हम अपना प्यार जताएंगे जिस धरा पर हम मिले उसे 'प्रणय वृक्ष' दे जाएंगे उसे 'प्रणय वृक्ष' दे जाएंगे। world environment day 🌍 ©Yaminee Suryaja

#short_shyari  White प्रणय वृक्ष 

यदि स्वीकार हूं मैं तो ये पौधा रख लो‌ आम का
नहीं लाया हूं फूल के लिए मैं फूल गुलाब का
मैं चाहूं ये पौधा बने प्रतीक हमारे प्यार का
हम रहें, न रहें प्रेम हमारा हिस्सा रहे संसार का
मैं चाहूं तुम संग सींचना इस प्रेम के पौधे को 
मन जुड़े हमारा और पोषण मिले इस पौधे को 
मुझे तुम्हारे सौंदर्य या तन से नहीं, मन से प्रेम है 
मर्यादित हूं मैं, बिना अधिकार स्पर्श से परहेज है 
तभी यह पौधा साथ लाया हूं 
प्रेम का नया सलीका भी हाथ लाया हूं 
जब देर रात आए याद मेरी, इस पौधे को निहारना तुम 
जब बढ़ने लगे आवेग प्रेम का, स्पर्श इसे करना तुम 
बस यूं ही हम अपना प्यार जताएंगे 
जिस धरा पर हम मिले उसे 'प्रणय वृक्ष' दे जाएंगे
उसे 'प्रणय वृक्ष' दे जाएंगे।

world environment day 🌍

©Yaminee Suryaja

#short_shyari @usFAUJI @Rohit Sharma Krishnadasi Sanatani @Madhusudan Shrivastava Jajbaat-e-Khwahish(जज्बात)

10 Love

117 View

144 View

126 View

#mothers_day  White सोचती हूं क्या माता को भी कोई कुछ दे सकता है भला 

अगर दे सके तो भी दिखावे का प्यार क्यों ?

मैंने तय किया, मैं दूंगी समय, सपने और वचन 

वचन कि कोख को तेरी कभी नहीं लजाऊंगी 

मैं रखूंगी सदा तेरा मान-सम्मान 

जो भी तुम चाहो हासिल वही करके दिखाऊंगी

मां मैं क्षमा चाहूंगी तुमसे, अपनी हर उत्दंडता के लिए 

इसलिए भी कि, नहीं लाई हूं आज तुम्हारे लिए कोई भी उपहार 

मां तुम स्वयं मेरी आराध्या हो, न कि कोई त्योहार 

क्षमा चाहूंगी तुमसे कि, मैं जता न पाऊंगी कभी तुमसे मेरा प्यार ।।

©Yaminee Suryaja

#mothers_day

108 View

#Videos

। पुतरा-पुतरी बिहा। अक्षय तृतीया विशेष।@usFAUJI @Madhusudan Shrivastava Krishnadasi Sanatani @Rohit Sharma @Internet Jockey

90 View

Trending Topic