Rahul Raj

Rahul Raj Lives in Auraiya, Uttar Pradesh, India

About to happen........ welcome to my kingdom....... Rahul Raj

  • Latest
  • Popular
  • Video

White अकेले रह गये, घर के वो बड़े लड़के.. जिन्हें जीने से पहले, कमाना सीखना पड़ा..! ©Rahul Raj

 White 

  अकेले रह गये, 
घर के वो बड़े लड़के..
 जिन्हें जीने से पहले, कमाना सीखना पड़ा..!

©Rahul Raj

#sad_dp#RahulRaj#quotes

9 Love

White सब भूल गए, तो भूल जाने दो.. एक दिन सब याद करेंगे, मतलब का दिन, तो आने दो..! ©Rahul Raj

 White सब भूल गए, 
तो भूल जाने दो..
एक दिन सब याद करेंगे,
मतलब का दिन, 
तो आने दो..!

©Rahul Raj

#sad_shayari#RahulRaj#quotes

13 Love

White युवा तेज चल सकते हैं.. लेकिन सड़क, बड़ों को ही पता हैं..! ©Rahul Raj

 White    युवा तेज चल सकते हैं..   लेकिन सड़क,
  बड़ों को ही पता हैं..!

©Rahul Raj

#good_morning_quotes#RahulRaj#quotes

10 Love

मैं तुम्हें दुनिया की, सारी चीज़ें तो नहीं दे सकता.. लेकिन मेरा प्यार, हमेशा तुम्हारा ही रहेगा..! ©Rahul Raj

 मैं तुम्हें दुनिया की,
सारी चीज़ें तो नहीं दे सकता..
लेकिन मेरा प्यार,
हमेशा तुम्हारा ही रहेगा..!

©Rahul Raj

#loveshayari#RahulRaj#quotes

14 Love

यदि कोई व्यक्ति मरना चाहता हैं.. तो कुछ और भी चाह रहा होगा, मरना उसकी, प्राथमिकता नहीं हो सकती..! ©Rahul Raj

 यदि कोई व्यक्ति मरना चाहता हैं.. 
  तो कुछ और भी चाह रहा होगा, 
मरना उसकी,
 प्राथमिकता नहीं हो सकती..!

©Rahul Raj

#duniya#RahulRaj#quotes

13 Love

White Love's mysteries in souls do grow, yet body is his book, It means, no matter how romantic love is, its expression is physical, The language of love, has the grammar of touch... प्राणेषु प्रेमगुह्यम् अद्यापि न विकसितं, तथापि शरीरं तस्य पुस्तकम् अस्ति, अर्थात् प्रेम कियत् अपि रोमान्टिकं भवतु, तस्य अभिव्यक्तिः केवलं शारीरिकः एव भवति। प्रेमभाषायां स्पर्शव्याकरणं भवति। आत्माओं में प्रेम के रहस्य, अभी तक विकसित नहीं हुए हैं, फिर भी शरीर उसकी किताब है... यानी प्यार कितना भी रोमांटिक क्यों न हो, उसकी अभिव्यक्ति शारीरिक ही होती है.. प्रेम की भाषा में स्पर्श का व्याकरण होता है..! ©Rahul Raj

 White Love's mysteries in souls do grow,
yet body is his book,
It means, no matter how romantic love is,
 its expression is physical,
The language of love,
has the grammar of touch...

प्राणेषु प्रेमगुह्यम् अद्यापि न विकसितं,
तथापि शरीरं तस्य पुस्तकम् अस्ति,
अर्थात् प्रेम कियत् अपि रोमान्टिकं भवतु, 
तस्य अभिव्यक्तिः केवलं शारीरिकः एव भवति।
प्रेमभाषायां स्पर्शव्याकरणं भवति।

आत्माओं में प्रेम के रहस्य,
अभी तक विकसित नहीं हुए हैं, 
फिर भी शरीर उसकी किताब है...
यानी प्यार कितना भी रोमांटिक क्यों न हो,
 उसकी अभिव्यक्ति शारीरिक ही होती है..
प्रेम की भाषा में स्पर्श का व्याकरण होता है..!

©Rahul Raj

#rajdhani_night#RahulRaj#quotes

12 Love

Trending Topic