Dr Nutan Sharma Naval

Dr Nutan Sharma Naval

social worker/writer/poet/teacher

  • Latest
  • Popular
  • Video

दुर्मिल सवैया छंद मन में छवि प्रीतम की रखिके,मन के सब बंद किवाड़ करूं। बस मैं करती यह आस सखी,बिसरे मन मीत न,धीर धरूं। चित मोह लियो मनमोहन ने,अब श्याम बिना नहि काहु वरूं। तजकै दुनियां जब जान लगूं,वह सूरत नैनन माहि भरूं। ©Dr Nutan Sharma Naval

#Bhakti #durmil  दुर्मिल सवैया छंद 
मन में छवि प्रीतम की रखिके,मन के सब बंद किवाड़ करूं।
बस मैं करती यह आस सखी,बिसरे मन मीत न,धीर धरूं।
चित मोह लियो मनमोहन ने,अब श्याम बिना नहि काहु   वरूं। 
तजकै दुनियां जब जान लगूं,वह सूरत नैनन माहि भरूं।

©Dr Nutan Sharma Naval

#durmil sawaiya chhand

12 Love

#motherlove  मेरी मां ने जब भी आंखे मूंदी हैं दुआ की है।

चाहे फिर मैने कितनी ही खता की है

©Dr Nutan Sharma Naval

#motherlove

117 View

White चुनावी दोहे सोच समझकर कीजिए,सब अपना मतदान। ऐसा नेता लाइए,बढ़े देश का मान। राष्ट्र उन्नति के लिए,हो कैसी सरकार। वोट दीजिए सब यहां,करके स्वयं विचार। सभी यहां पर भ्रष्ट हैं, कैसे करें चुनाव। सदाचार का देश में, कौन पढ़े प्रस्ताव। खाते माल गरीब का,कहते चौकीदार। खुद ही सब कुछ लूटकर,बना रहे सरकार। खाली जेबें भर रहे,नेता,साहूकार। लोकतंत्र का कर रहे,जनता से व्यापार।। ©Dr Nutan Sharma Naval

#चुनावी_मुद्दा #Motivational  White चुनावी दोहे 

सोच समझकर कीजिए,सब अपना मतदान।
ऐसा नेता लाइए,बढ़े देश का मान।

राष्ट्र उन्नति के लिए,हो कैसी सरकार।
वोट दीजिए सब यहां,करके स्वयं विचार।

सभी यहां पर भ्रष्ट हैं, कैसे करें चुनाव।
सदाचार का देश में, कौन पढ़े प्रस्ताव।

खाते माल गरीब का,कहते चौकीदार।
खुद ही सब कुछ लूटकर,बना रहे सरकार।

खाली जेबें भर रहे,नेता,साहूकार।
लोकतंत्र का कर रहे,जनता से व्यापार।।

©Dr Nutan Sharma Naval
#दोहावली  दोहा 
गॅंगा,जमुना,सरस्वती, रावी और चिनाव।

इनसे भी गहरे हुए,मन में मेरे घाव।

©Dr Nutan Sharma Naval

White मुक्तक जो भी बोया यहां है वही काटना। दूर कर द्वेष को प्रेम ही बांटना। जिंदगी में ये सामान पर्याप्त है। छोड़ सूरत सदां,सीरत छांटना। ©Dr Nutan Sharma Naval

#मुक्तक💝 #Bhakti  White मुक्तक
जो भी बोया यहां है वही काटना।
दूर कर द्वेष को प्रेम ही बांटना।
जिंदगी में ये सामान पर्याप्त है।
छोड़ सूरत सदां,सीरत छांटना।

©Dr Nutan Sharma Naval

Book quotes दोहा गीता में श्री कृष्ण ने, दिया यही समझाय। फल की इच्छा व्यर्थ है, कर्म संग में जाय। ©Dr Nutan Sharma Naval

#दोहावली #Bhakti  Book quotes दोहा
गीता में श्री कृष्ण ने, दिया यही समझाय।
फल की इच्छा व्यर्थ है, कर्म संग में जाय।

©Dr Nutan Sharma Naval
Trending Topic