Vikash Kamboj

Vikash Kamboj

  • Latest
  • Popular
  • Repost
  • Video
#goodnightimages  White जीना तो पड़ता है

बुढ़ापा हो या जवानी,

तुम मेरे लिए क्या हो

एक दर्द और आँख का पानी।

©Vikash Kamboj

ये अटकलें हैं कि बादल घिरकर आएगा, गर्मी का मौसम है यूं ही नही जाएगा, AC, गाड़ियां, कारखाने सब तरक्की पर हैं, काम-काज बहुत है साहब, कौन पेड़ लगायेगा? ©Vikash Kamboj

#sunrays  ये अटकलें हैं कि बादल घिरकर आएगा,

गर्मी का मौसम है यूं ही नही जाएगा,

AC, गाड़ियां, कारखाने सब तरक्की पर हैं,

काम-काज बहुत है साहब, कौन पेड़ लगायेगा?

©Vikash Kamboj

#sunrays

14 Love

White मरने के लिए आत्महत्या मत कीजिए, इन्तजार कीजिए, आप एक दिन जरूर मारे जायेंगे। ©Vikash Kamboj

#मृत्यु #Quotes  White मरने के लिए आत्महत्या मत कीजिए,

इन्तजार कीजिए,

आप एक दिन जरूर मारे जायेंगे।

©Vikash Kamboj

Blue Moon "प्रवचन" आज फिर प्रवचन सुनकर आए हो, क्या मेरे लिए प्रसाद लाए हो? मैं मंदिर में ढूंढता रहा भगवान को, तुम एक और भगवान खोज लाए हो। मीठा बहुत पसन्द है मुझे, क्या तुम साथ लाए हो? करोड़ो की सम्पत्ति है जिसके पास, क्या उसे दान दे आए हो? ज्ञान बहुत बरसा होगा वहां, क्या तुम समेट लाए हो? तुम मूर्ख बने या बुद्धिमान, ये पहचान पाए हो? चल के पैदल आए हो, या बस में धक्के खाए हो। अपनी गरीबी का खुद करो उपचार, भरी भीड़ में क्यों आसुओं से नहाए हो। ©Vikash Kamboj

#bluemoon  Blue Moon "प्रवचन"

आज फिर प्रवचन सुनकर आए हो,

क्या मेरे लिए प्रसाद लाए हो?

मैं मंदिर में ढूंढता रहा भगवान को,

तुम एक और भगवान खोज लाए हो।


मीठा बहुत पसन्द है मुझे,

क्या तुम साथ लाए हो?

करोड़ो की सम्पत्ति है जिसके पास,

क्या उसे दान दे आए हो?


ज्ञान बहुत बरसा होगा वहां,

क्या तुम समेट लाए हो?

तुम मूर्ख बने या बुद्धिमान,

ये पहचान पाए हो?


चल के पैदल आए हो,

या बस में धक्के खाए हो।

अपनी गरीबी का खुद करो उपचार,

भरी भीड़ में क्यों आसुओं से नहाए हो।

©Vikash Kamboj

#bluemoon

16 Love

#loversday  अगर मैं देख लूं तुमको तो क्या गुनाह होगा,

तुम्हारा कुछ ना बिगड़ेगा सब मेरा फनाह होगा,

गर्म है इश्क की तासीर ये जान लो तुम भी,

ये दिल यूं ही मचलेगा जब मौसम जवां होगा।

©Vikash Kamboj

#loversday

117 View

White जी भर भी नही देखा उसको और शाम हो गई, मैंने बदन भी नही छुआ और वो बदनाम हो गई, कितनी बुरी है फितरत इस जमाने की, हमने दो लम्हे गुजारे, चर्चा सरेआम हो गई। ©Vikash Kamboj

#Couple  White जी भर भी नही देखा उसको और शाम हो गई,

मैंने बदन भी नही छुआ और वो बदनाम हो गई,

कितनी बुरी है फितरत इस जमाने की,

हमने दो लम्हे गुजारे, चर्चा सरेआम हो गई।

©Vikash Kamboj

#Couple

10 Love

Trending Topic